राष्ट्रीय टोल फ्री नंबर1800 425 00 000

सतर्कता जागरूकता सप्ताह 2020

सतर्कता जागरूकता सप्ताह 2020

प्रिय ग्राहकों,

इंडियन बैंक को दिये गए आपके निरंतर समर्थन एवं हमारे साथ जुड़े रहने के लिए आपका धन्यवाद ।

सत्यनिष्ठता के उच्च मानदंड निर्धारित करने वाले सरदार वल्लभ भाई पटेल जी के जन्मदिवस के साथ-साथ प्रत्येक वर्ष सतर्कता जागरूकता सप्ताह मनाया जाता है। भारत के गौरवशाली नागरिक होने के नाते हमें, 2022 तक, जब हम स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ मनाएंगे, नए भारत का निर्माण किए जाने के भारत सरकार के विज़न को प्राप्त करने के उद्देश्यों से जुड़ने की आवश्यकता है। इसी दिशा में, केंद्रीय सतर्कता आयोग आम जनता के बीच सत्यनिष्ठता, पारदर्शिता और जवाबदेही जैसे गुणों का प्रसार करने हेतु प्रयासरत है।

वर्ष 1999 में आयोग द्वारा सतर्कता जागरूकता सप्ताह का आयोजन शुरू हुआ।  तत्पश्चात, भ्रष्टाचार के विरुद्ध  लोगों के बीच जागरूकता उत्पन्न करने, भ्रष्टाचार के कारण एवं उसका दुष्प्रभाव,  तथा सभी हितधारकों को सामूहिक रूप से भ्रष्टाचार के रोकथाम हेतु सचेत और प्रोत्साहित करने के लिए और इससे लड़ने के लिए, आयोग द्वारा बहु-आयामी दृष्टिकोण के रूप में प्रति वर्ष सतर्कता जागरूकता सप्ताह मनाया जाता है।

केंद्रीय सतर्कता आयोग ने निर्णय लिया है कि इस वर्ष “सतर्क भारत, समृद्ध भारत” विषय के साथ सतर्कता जागरूकता सप्ताह  का अनुपालन 27.10.2020 से 02.11.2020 तक  किया जाएगा।

कोई भी व्यक्ति जिसके पास अधिकार है, यदि वह उस अधिकार का प्रयोग स्वयं के लिए या किसी और के लिए लाभ प्राप्त करने के उद्देश्य से बेईमानी या अनैतिक रूप से कार्य करता है, तो उसे भ्रष्टचार परिभाषित किया जा सकता है।  भ्रष्टाचार एक वैश्विक बीमारी है जो किसी न किसी तरह से समाज के सभी स्तरों को प्रभावित करती है।  भ्रष्टाचार आर्थिक और राजनीतिक विकास, लोकतांत्रिक मानदंडों, पर्यावरण, लोगों के स्वास्थ्य और कई क्षेत्रों को प्रभावित करता है, इसलिए हम सभी के लिए यह अनिवार्य है कि हम भ्रष्टाचार को कम करने में अपनी भूमिका के बारे में जागरूक हों और बड़े पैमाने पर समाज को पीड़ित करने वाले इस खतरे को मिटाने के लिए हर संभव योगदान दें।

ई-गवर्नेंस, प्रक्रियाओं में प्रणालीगत बदलाव, न्यूनतम विवेकाधिकार, न्यूनतम मानव हस्तक्षेप, प्रौद्योगिकी आधारित अधिप्राप्ति और स्वचालन भ्रष्टाचार को कम करने में दूरगामी परिणाम देंगे। केंद्रीय सतर्कता आयोग सभी संगठनों/विभागों को सूचित करता है कि वे भ्रष्टाचार से लड़ने और अपने कामकाज में पारदर्शिता और जवाबदेही बढ़ाने के लिए प्रभावी निवारक उपायों की पहचान करें और उन्हें लागू करें। इंडियन बैंक, एक ऐसा बैंक जिसकी जड़ें हमारे देश के स्वदेशी आंदोलन तक पहुंची हुई हैं, हमेशा से उपरोक्त लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए नित प्रयासरत रहा है। हम अपने सभी बहुमूल्य ग्राहकों से अपील करते हैं कि वे भ्रष्टाचार को खत्म करने के हमारे मिशन में ई-प्रतिज्ञा लेकर शामिल हों, जो इस पृष्ठ का अगला पड़ाव है।

धन्यवाद।

प्रतिज्ञा लें

( अंतिम संशोधन Oct 27, 2020 at 07:10:49 PM )